• Home
  • उपलब्धियाँ
उपलब्धियाँ

संस्थान की मुख्य उपलब्धियाँ:-
 ब्लाॅक स्तर पर संस्थान के विस्तार केन्द्रों की स्थापना:-
जन शिक्षण संस्थान, बीकानेर द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में मजबूत जुड़ाव के लिए महाजन, जामसर और श्रीकोलायत में तीन विस्तार केन्द्र स्थापित किए गए हैं। इन केन्द्रों से यह लाभ है कि आस-पास के गांवों एवं ढांणियों के लोगों को समस्त सूचनाएं एवं संसाधन विस्तार केन्द्रों के माध्यम से ही प्राप्त हो जाते हैं।
 आजीविका कक्ष (लिवलीहुड सेल) की स्थापना:-
संस्थान से प्रशिक्षित प्रशिक्षणार्थियों को रोजगार-स्वरोगार की राह में अग्रसर करने के लिए संस्थान परिसर में आजीविका कक्ष (लिवलीहुड सेल) की स्थापना की गई है। जहां प्रशिक्षुओं को स्वरोजगार, रोजगार एवं आय-अर्जन से जोड़ने के लिए स्वयं सहायता समूह का गठन, विभिन्न ऋण योजनाओं की जानकारी आदि के माध्यम से उनका मार्गदर्शन किया जाता है। साथ ही संस्थान से सफल प्रशिक्षितों का डाटा संग्रहण भी किया जाता है।
 कम्प्यूटर पोर्टल पर कार्यप्रगति के आकलन में संस्थान का दूसरा देश में स्थान:
अभी हाल ही में भारत सरकार द्वारा प्राप्त सूचना के आधार पर जन शिक्षण संस्थान, बीकानेर ने 2019-20 वर्ष की कार्यप्रगति करने और उसको कम्प्यूटर पोर्टल पर समय अपलोड करने के लिए देश के सभी जन शिक्षण संस्थानों में से दूसरा स्थान प्राप्त किया है ।
 व्यावसायिक कौशल के साथ जीवन कौशल शिक्षा (LEE) पर विशेष कार्य:-
जन शिक्षण संस्थान, बीकानेर द्वारा सभी प्रशिक्षण केन्द्रों पर प्रत्येक शनिवार को जीवन कौशल शिक्षा के विभिन्न विषयों एवं कौशलों पर तथ्यपरक एवं पुख्ता जानकारियां से प्रशिक्षुओं के व्यक्तित्व का सर्वांगीण विकास किया जाता है।
 जिला प्रशासन की मांग पर बालगृह एवं बालिकागृह के आवासित किशोर-किशोरियों को कौशल प्रशिक्षण से जोड़ा गया:-
जिला कलक्टर की अध्यक्षता में हुई बैठक में लिए गए विशेष निर्णयानुसार संस्थान द्वारा बाल आधिकारिता विभाग एवं जिला बाल संरक्षण की मांग पर स्थानीय बालगृह एवं बालिकागृह में आवासित किशोर-किशोरियों को क्रमशः कम्प्यूटर एप्लीकेशन एमएस वर्ड और हेयर केयर एंड सेटिंग प्रशिक्षणों से जोड़ा गया।
 युवा कौशल संवाद के माध्यम से संस्थान के प्रशिक्षुओं को राष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिली:-
कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय भारत सरकार के निर्देशानुसार आयोजित युवा कौशल संवादों में जन शिक्षण संस्थान, बीकानेर की ओर से सुश्री सोनू कंवर का चयन राजस्थान राज्य की ओर से एकमात्र और राष्ट्रीय स्तर पर अंतिम 10 सफल प्रशिक्षणार्थियों की सूची में किया गया। इस उल्लेखनीय उपलब्धि से जन शिक्षण संस्थान, बीकानेर के प्रशिक्षुओं को राष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिली।
 राज्यपाल सांसद आदर्श ग्रामों में कौशल विकास कार्यक्रमों का संचालन:-
जन शिक्षण संस्थान, बीकानेर द्वारा जिले में सांसद एवं राज्यपाल के आदर्श ग्रामों - बीकमपुर, तोलियासर, दहिया, जयमलसर आदि गांवों में कौशल विकास कार्यक्रमों एवं राष्ट्रीय सरोकार के कार्यों से जनसमुदाय को लाभान्वित किया गया।
 उपक्षेत्रीय रोजगार कार्यालय द्वारा आयोजित रोजगार मेलों में संस्थान द्वारा बेरोजगारों की आत्मनिर्भरता के लिए प्रयास:-
जन शिक्षण संस्थान बीकानेर द्वारा उपक्षेत्रीय रोजगार कार्यालय द्वारा जिला स्तर पर आयोजित रोजगार मेलों, ग्रामीण हाट आदि आयोजनों में नियमित निरंतर सहभागिता निभाई जाती है।
 जन शिक्षण संस्थान, बीकानेर के समस्त लेखा कार्य को PFMS के द्वारा आॅनलाईन पेमेंट से जोड़ा गया है।

 जिला स्तरीय विकास विभागों एवं स्वयं सेवी संगठनों के साथ मजबूत समन्वयन:-
जन शिक्षण संस्थान, बीकानेर द्वारा जिले के ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में सामुदायिक एवं आधारभूत विकास से जुड़े विभिन्न विकास विभागों यथा - जिला कलक्टर कार्यालय, जिला परिषद, नगर निगम, पंचायत समितियांे, ग्राम पंचायतों, जिला उद्योग केन्द्र, समाजकल्याण एवं आधिकारिता विभाग, उपक्षेत्रीय रोजगार कार्यालय, सरकारी एवं निजी बैंकों आदि के साथ विभिन्न क्षेत्रीय स्वयं सेवी संगठनों के साथ मजबूत समन्वय स्थापित किया गया है। संस्थान द्वारा संचालित कौशल विकास के कार्यों में इन विभागों एवं संगठनों की सक्रिय सहभागिता रहती है।